काव्य श्रृंखला – 57

सौदा .....!!!!! सांसों की लड़ीघटती हर घड़ीआतुर रिश्ते करते सौदाजीने पर जीवन भर सौदामरने पर शव का भी सौदा रुकती सांसेंमरती आसेंमुद्रा पर सेहत का सौदाजीने पर चलने का सौदामरने…