काव्य श्रृंखला – 45

क्या हुआ अगर चले थे ढूंढने इंसानियत गुमनाम राहों मेंदिशाएं स्याह, काले मन, बड़ी संगीन दुनिया थीभले मानुष दिखे अब रेड डाटा बुक के पन्नों परसड़ी बुद्धि, भ्रमित जनता, बड़ी…

काव्य श्रृंखला – 44

दान या दिखावा लड़कर वो खुद शमशीरों सेपत्थर को मकान बनाता हैआजीवन इज्जत को तरसेचुपचाप कहीं मर जाता है देखें हैं लुटेरे अरबों केबंगलों की नींव हैं लाशों परआंखों की…

सामयिकी – 26 – 27 दिसंबर 2019

विषय – वस्तु राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर – 2020प्रति व्यक्ति बिजली की खपतविस्टाडोम ट्रेन का परिचालन शुरुऑयल एंड गैस सेक्टर के विवादों के निपटारे के लिए कमेटी का गठनउत्तर प्रदेश में…

सामयिकी – 25 दिसंबर 2019

विषय – वस्तु रेलवे बोर्ड का पुनर्गठनचीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ के पद को मंजूरीराष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) को मंजूरीअटल भूजल योजना को मंजूरीरोहतांग दर्रा सुरंग का नामकरण वाजपेयी के नाम…

सामयिकी – 24 दिसंबर 2019

विषय – वस्तु झारखंड भी हारी भारतीय जनता पार्टीहर्षवर्धन श्रृंगला अगले विदेश सचिव नियुक्तब्रह्मोस की ताकत पर दुनिया की मुहर और भारत रुस संबंधस्वदेशी क्यूआरसैम मिसाइल का सफल परीक्षण24 दिसंबर…

सामयिकी – 23 दिसंबर 2019

विषय – वस्तु अफगानिस्तान में अशरफ गनी फिर जीतेभारत ने वेस्टइंडीज से एकदिवसीय श्रृंखला जीतासीएए, एनआरसी और भारतीय नागरिकताअसम में एनआरसी का इतिहासकेंद्रीय कानूनों पर राज्यों की स्थितिदेश का चौथा…

सामयिकी – 22 दिसंबर 2019

विषय – वस्तु सीमा पर शांति कायम रखने को भारत–चीन सहमतदेश में मिशन मोड पर आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस पर शोधसेरेंडिपिटी कला महोत्सवसिलिकॉन चिप के जरिए कृत्रिम स्नायु कोशिकाओं का विकासरेलयात्रियों की…

सामयिकी – 20 – 21 दिसंबर 2019

विषय – वस्तु डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग को मंजूरीऑस्ट्रेलिया के पैट कमिंस बने आइपीएल के सबसे महंगे खिलाड़ीभारत और अमेरिका के बीच टू प्लस टू वार्ताएनपीआर बंद करने के…

सामयिकी – 4 अगस्त 2019

वेटलैंड्स और बाढ़ का खतरा2014 में कश्मीर में अाई भीषण बाढ़ का सबसे बड़ा कारण वेटलैंड्स पर कंक्रीट के जंगलों का बेतहाशा निर्माण ही थाकश्मीर विश्वविद्यालय के एक शोध के…

सामयिकी – 3 अगस्त 2019

अर्थव्यवस्था की रैंकिंग और भारतविश्व बैंक द्वारा जीडीपी पर आधारित वर्ष 2018 की रैंकिंग जारीभारत 1 स्थान फिसल कर सातवें स्थान पर पहुंचा2017 में भारत ने फ्रांस को पीछे छोड़ते…