विचार श्रृंखला – 41

मैं केबीसी से बोल रहा हूँ..... हैल्लो जी, नमस्ते जी, नमस्कार जीराहुल कुमार बात कर रहा हूंकेबीसी डिपार्टमेंट से बात कर रहा हूं........ सोचिए, एक सुबह आपकी नींद खुलती है,…

(Repost) शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

आज शिक्षक दिवस के अवसर पर प्रस्तुत है शिक्षकों के महत्व पर प्रकाश डालती हुई मेरी स्वरचित कविता। साथ ही मैंने वर्तमान शिक्षा प्रणाली में शिक्षकों के समक्ष चुनौतियों को…

काव्य श्रृंखला – 45

क्या हुआ अगर चले थे ढूंढने इंसानियत गुमनाम राहों मेंदिशाएं स्याह, काले मन, बड़ी संगीन दुनिया थीभले मानुष दिखे अब रेड डाटा बुक के पन्नों परसड़ी बुद्धि, भ्रमित जनता, बड़ी…