सामयिकी – 16 जुलाई 2019

  • चंद्रयान–2 का प्रक्षेपण टला
    • प्रक्षेपण यान “बाहुबली” रॉकेट में आई तकनीकी खामी के चलते प्रक्षेपण से मात्र 56 मिनट 24 सेकेंड पहले उल्टी गिनती रोकी गई
    • मिशन कंट्रोल सेंटर ने कहा है कि मौजूदा लांच विंडो के तहत अब चंद्रयान–2 का प्रक्षेपण संभव नहीं है और प्रक्षेपण की अगली तारीख की घोषणा बाद में की जाएगी
      • लांच विंडो – वह समय जब चंद्रमा पृथ्वी के सबसे करीब होता है और उस दौरान दूसरे उपग्रहों से टकराने का खतरा भी कम होता है
  • नियुक्ति– राज्यपाल
    • हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल – कलराज मिश्र
      • पिछली केंद्र सरकार में सूक्ष्‍म, लघु एवं मध्यम उद्‍योग मंत्रालय में राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) थे हालांकि 75 वर्ष की आयु पार करने पर उन्होंने 2017 में स्वेच्छा से पद छोड़ दिया था
    • गुजरात के राज्यपाल – आचार्य देवव्रत
      • इससे पूर्व हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल थे
      • हिमाचल प्रदेश में कलराज मिश्र की नियुक्ति के बाद उन्हें गुजरात भेजा गया है
      • ओ पी कोहली का कार्यकाल समाप्त होने के बाद उनकी जगह पर नियुक्ति
  • सेल्फी with गुरु अभियान
    • केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ० रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ द्वारा गुरु पूर्णिमा पर गुरुओं का सम्मान करने के लिए सोशल मीडिया पर छेड़ा गया अभियान
  • सड़क हादसे से बचने के कुछ तरीके
    • तेज रफ्तार पर अंकुश –
      • तेज रफ्तार सड़क हादसों के लिए जिम्मेदार कारकों में से सबसे बड़ा हिस्सेदार है। खासकर युवाओं में रफ्तार के प्रति एक जुनून सा देखा गया है जिसके चक्कर में वो अक्सर ही सड़क के नियमों की धज्जी उड़ाते रहते हैं और सड़क हादसों का शिकार बनकर असमय ही काल के गाल में समा जाते हैं
      • एक अध्ययन के मुताबिक यातायात की औसत रफ्तार एक किमी प्रति घंटा कम कर देने से सड़क हादसों में 4 से 5 प्रतिशत की कमी लाई जा सकती है
      • हर क्षेत्र और सड़क के लिए रफ्तार सीमा तय करने के साथ ही उनका सख्ती से अनुपालन भी अत्यंत जरुरी है
    • हेलमेट का अनिवार्य प्रयोग –
      • सड़क हादसों में होने वाली मौतों में सबसे बड़ा हिस्सा दोपहिया वाहन सवारों का है और उनमें भी ऐसे सवार सबसे अधिक हैं जिन्होंने या तो हेलमेट पहना ही नहीं था या फिर हेलमेट पहनने के नियमों का उल्लंघन किया था। इन कारकों में निम्न गुणवत्ता, सिर के अनुरुप हेलमेट का आकार न होना और चिनस्ट्रैप का न बंधा होना या सही ढंग से न बंधा होना जैसे तत्व शामिल हैं
      • हेलमेट दुर्घटना के समय सिर की चोटों के जोखिम को 70 प्रतिशत कम कर देता है
    • Drunken Drive पर सख्त पाबंदी –
      • रक्त में शून्य स्तर से उपर अल्कोहल की मात्रा होने से किसी 30 साल से अधिक आयु वाले व्यक्ति की तुलना में किशोर चालक द्वारा हादसे की संभावना पांच गुना अधिक हो जाती है
      • कम उम्र और गैर अनुभवी चालकों के लिए अल्कोहल सीमा के नए मानदंड लागू करके हादसों में 4 से 24 प्रतिशत तक की कमी लाई जा सकती है
      • बेहतर है कि शराब या अन्य किसी भी नशे के सेवन के बाद ड्राइविंग न ही करें
    • सीट बेल्ट का प्रयोग –
      • सड़क सुरक्षा को लेकर अब तक खोजे गए सभी उपकरणों में से सबसे अधिक जान सीट बेल्ट ने बचाई है
      • अकेले सीट बेल्ट के प्रयोग से हादसों में होने वाली सभी तरह की चोटों को 40–50 प्रतिशत तक कम किया जा सकता है जबकि गंभीर चोटों के मामले में यह आंकड़ा 40–60 प्रतिशत तक है
    • बच्चों के लिए खास उपकरण –
      • कार में शिशु और बच्चों के लिए खास सीट एवं बूस्टर सीट हादसों में कालकवलित होने वाले शिशुओं की संख्या में 71 प्रतिशत तक कमी ला सकते हैं जबकि बच्चों के मामले में यह आंकड़ा 54 प्रतिशत तक है
    • आपातकालीन सेवाएं –
      • स्वास्थ्य अग्निशमन और पुलिस जैसी सेवाओं की उपलब्धता एवं तत्परता में कमी के चलते सड़क हादसों में गंभीर रुप से घायल कई लोग अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ देते हैं
    • सड़क डिजाइन एवं आधारभूत सुविधाएं –
      • विभिन्न प्रकार के यातायात को अलग रखने की व्यवस्था होनी चाहिए
      • पैदल यात्रियों एवं साइकिल सवारों के लिए अलग लेन की आवश्यकता
      • फुटपाथ और सड़क पार करने की संरचना विकसित करने की आवश्यकता
      • आवश्यकतानुसार स्पीड ब्रेकर की व्यवस्था
  • डायनासोर की नई प्रजाति के जीवाश्मों की खोज
    • आठ करोड़ साल पहले पृथ्वी पर विचरण करने वाले Duck-Build डायनासोर (बत्तख की चोंच जैसे जबड़े वाले) की प्रजाति की खोज
      • इन्हें हेड्रोसारिड्स भी कहते हैं
    • सिस्टमेटिक पेलियोन्टोलॉजी जर्नल में प्रकाशित अध्ययन में अमेरिका के बिग बेंड नेशनल पार्क में मिली एक डायनासोर की खोपड़ी के आधार पर जानकारी दी गई है कि यह एक नई प्रकार की प्रजाति एक्वलिनहिनस पैलिमेंट्स से संबंधित है
      • इस नई प्रजाति के डायनासोर की नाक चोंच की तरह और नीचे के जबड़े काफी चौड़े थे
      • उपर का जबड़ा यू आकार का तो नीचे का जबड़ा डब्ल्यू के आकार का
    • इससे पहले के अध्ययनों में इस जीवाश्म को ग्रिपोसाॅरस प्रजाति का बताया गया था हालांकि वर्तमान अध्ययन के बाद पुराने सभी अध्ययनों को गलत माना गया है
    • वैज्ञानिकों के अनुसार यह डायनासोर उत्तरी मैक्सिको के पास दलदल के आसपास निवास करता था जहां वर्तमान में चिहुआहुआन रेगिस्तान है

साभार – दैनिक जागरण (राष्ट्रीय संस्करण) दिनांक 16 जुलाई 2019 

आज के अंक से संबंधित पीडीएफ डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें – सामयिकी – 16 जुलाई 2019

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.