सामयिकी – 14 जुलाई 2019

  • अंशुला कांत विश्व बैंक की प्रबंध निदेशक और मुख्य वित्त अधिकारी नियुक्त
    • सितंबर 2018 से देश के सबसे बड़े कर्जदाता बैंक भारतीय स्टेट बैंक में प्रबंध निदेशक के पद पर कार्यरत
    • वह भारतीय स्टेट बैंक में मुख्य वित्त अधिकारी भी रह चुकी हैं
    • उनके पास वित्त, बैंकिंग और तकनीक के नए तरह के प्रयोग का 35 वर्ष से अधिक का अनुभव
    • उनके पास विश्व बैंक में वित्तीय और जोखिम प्रबंधन की जिम्मेदारी होगी
  • मेघालय जलनीति बनाने वाला देश का पहला राज्य
    • मुख्यमंत्री कोनराड के संगमा की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की बैठक में नीति मसौदे को मंजूरी
    • उपमुख्यमंत्री प्रेस्टोन त्यनसोंग ने बताया कि पहाड़ी राज्य होने के कारण मेघालय में वर्षा तो बहुत होती है लेकिन वहां पानी का ठहराव नहीं हो पाता और सारा पानी बिना रुके बांग्लादेश पहुंच जाता है
    • जलनीति के मसौदे के तहत पानी के इस्तेमाल और जीवन यापन एवं जल निकायों के संरक्षण के उपायों से संबंधित सभी मुद्दों को रेखांकित किया गया है। ग्राम स्तर पर जल स्वच्छता ग्राम परिषद के गठन द्वारा जन भागीदारी सुनिश्चित करने का भी प्रयास किया गया है।
    • राज्य द्वारा हाल ही में जल शक्ति मिशन भी लांच किया गया है
  • दुनिया की आबादी – 7.7 अरब
    • जनसंख्या पर आधारित संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट में खुलासा
    • कुल आबादी का 18.7 प्रतिशत चीन में तथा 17.88 प्रतिशत भारत में
    • रिपोर्ट में बढ़ती जनसंख्या दर पर चिंता जताते हुए कहा गया है कि यदि आबादी के बढ़ने की यही दर जारी रही तो वर्ष 2100 तक विश्व की आबादी 11 अरब के आसपास पहुंच जाएगी
    • रिपोर्ट में अनुमान व्यक्त किया गया है कि 2070 तक एशिया की आबादी 5.27 अरब तक पहुंच जाएगी वहीं 2060 तक यूरोप की आबादी 68.9 करोड़ और लैटिन अमेरिका की आबादी 76.5 करोड़ के आसपास हो जाएगी
    • पृथ्वी पर सबसे अधिक आबादी वाला महाद्वीप – एशिया
    • भारत की स्थिति –
      • 1951 में भारत की आबादी 36 करोड़ थी जो वर्तमान में बढ़कर 133 करोड़ हो गई है
      • रिपोर्ट के मुताबिक भारत 2027 तक जनसंख्या के मामले में चीन को पछाड़कर प्रथम स्थान पर पहुंच जाएगा
      • बढ़ती जनसंख्या का असर अर्थव्यवस्था की बर्बादी के साथ – साथ ब्रेन ड्रेन, गरीबी, अशिक्षा, बेरोजगारी, निवास, खेती के लिए जमीन इत्यादि समस्याओं की वृद्धि के रुप में दिखाई देगा और इस प्रकार भारत सरकार का देश को पांच ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था बनाने का सपना भी अधर में लटक जाएगा
  • महिला विंबलडन टेनिस का एकल खिताब – सिमोना हालेप (रोमानिया)
    • फाइनल में सेरेना विलियम्स को 6–2 6–2 से मात दी
    • इस हार के साथ सेरेना विलियम्स 24 ग्रैंड स्लैम जीतने के मार्गरेट कोर्ट के विश्व रिकॉर्ड की बराबरी करने से एक बार फिर चूक गईं
    • सेरेना विलियम्स कुल सात बार विंबलडन का खिताब जीत चुकी हैं जबकि सिमोना हालेप का यह पहला विंबलडन खिताब था
  • 2500 वर्ष पुराने मटकों की खोज
    • अल्बानिया के समुद्र तट से 22 प्राचीन अंफोरस (मटके) बरामद
    • अल्बानिया और अमेरिका की संयुक्त पुरातत्व परियोजना के तहत प्राप्त
    • अल्बानिया यूरोप के सबसे गरीब देशों में से एक है और पानी में अपनी समृद्ध विरासत को बचाने की कोशिश कर रहा है हालांकि इस काम को अंजाम देने के लिए इस देश के पास पर्याप्त धन की कमी है
  • रंग–बिरंगी दुनिया : मादा मछली के नर बन जाने की प्रक्रिया
    • न्यूजीलैंड की ओटैगो यूनिवर्सिटी के एरिका टाड के अनुसार समुद्र में मछलियों की कई तरह की प्रजातियां पाई जाती हैं जो अपने जीवन की शुरुआत एक मादा के रुप में करती हैं और बाद में जाकर नर में परिवर्तित हो जाती हैं
      • उदाहरण – प्रसिद्ध क्लाउनफिश, कोबूदाई और ब्लू–हेड रेस्से
    • इस प्रक्रिया में इन मछलियों को केवल 10 से 20 दिन का समय लगता है
    • वैज्ञानिकों के अनुसार जब इन मछलियों के समूह का कोई नर खो जाता है तो इनमें से सबसे बड़ी मादा मछली 10 दिन के अंदर नर बन जाती है
    • मादा मछली सबसे पहले अपना रंग बदलती है और उसके बाद नर मछली की तरह व्यवहार करने लगती है। कुछ ही समय बाद उनकी शारीरिक बनावट में भी बदलाव हो जाता है
    • साइंस एडवांसेज जर्नल में प्रकाशित अध्ययन के मुताबिक यह प्रक्रिया मछलियों की लगभग 500 प्रजातियों में होती है और यह उनके जीवन की एक स्वाभाविक प्रक्रिया है
    • शोधकर्ताओं के अनुसार इस प्रक्रिया में इन मछलियों में बहुत बड़ा जेनेटिक बदलाव होता है जो पूरी शारीरिक बनावट को बदल देता है। इन परिवर्तनों में सबसे पहले मछलियों को मादा बनाए रखने वाले जीन काम करना बंद कर देते हैं और इसके बाद नर के लिए जिम्मेदार जीन काम करना शुरु कर देते हैं
    • यह प्रक्रिया तब शुरु होती है जब मादा हार्मोन (एस्ट्रोजेन) बनाने वाला जीन एरोमैटेज काम करना बंद कर देता है हालांकि एरोमैटेज के काम करना बंद करने का कारण अभी भी शोध का विषय है। मजे की बात यह है कि ये रिएक्शन समूह में मौजूद प्रमुख नर के गायब होने के बाद ही शुरु होता है
    • यह अध्ययन चिकित्सा जगत की एक बड़ी उपलब्धि है इसकी मदद से कशेरुकीय जानवरों में भी जीन के जटिल नेटवर्क सिस्टम को समझने में मदद मिलेगी

साभार – दैनिक जागरण (राष्ट्रीय संस्करण) दिनांक 14 जुलाई 2019 

आज के अंक से संबंधित पीडीएफ डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें – सामयिकी – 14 जुलाई 2019

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.