सामयिकी – 10 जुलाई 2019

  • चीनी कर्ज के चंगुल में मालदीव
    • चीनी कर्ज को लेकर मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति और मौजूदा स्पीकर मोहम्मद नशीद का चीनी राजदूत से टकराव हो गया
    • मालदीव पर चीन का 3.4 अरब डॉलर का कर्ज है
    • चीनी परियोजनाओं की लागत बहुत ज्यादा है और 2020 के बाद से मालदीव के कुल बजट का 15 प्रतिशत भाग चीनी कंपनियों के बिल चुकाने में खर्च होगा
    • गत वर्षों में अनेक चीनी कंपनियों को उंची बोली के बावजूद भारतीय कंपनियों पर तरजीह दी गई जिसकी वजह से मालदीव पर कर्ज का अतिरिक्त बोझ पड़ा है
    • भारत की कूटनीति में मालदीव का एक अहम महत्व है। इसी महत्व को दर्शाते हुए भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल के पहले विदेश दौरे के लिए मालदीव को चुना था। इसके अलावा खाड़ी देशों से भारत में तेल का अधिकांश आयात मालदीव के रास्ते ही होता है जिसके कारण यह आवश्यक है कि भारत का दबदबा इस मार्ग पर कायम रहे
    • भारत ने मालदीव की आर्थिक आवश्यकताओं को पूरा करने का भरोसा दिलाया है तथा 2019–20 के बजट में मालदीव को 576 करोड़ रुपए की सहायता राशि आवंटित किया है
  • कृत्रिम तरीके से पैदा किए गए लुप्तप्राय पक्षी
    • राजस्थान के जोधपुर स्थित नेशनल डेजर्ट पार्क का कारनामा
    • इन्क्यूबेटर के माध्यम से दो गोडावण की हैचिंग (पक्षी द्वारा अंडों पर बैठकर सेंकने की प्रक्रिया) की गई
    • कृत्रिम हैचिंग के 6 अंडे एकत्र किए गए थे तथा इनसे इन्क्यूबेटर के माध्यम से पहले बच्चे का जन्म 21 जून को और दूसरे का 6 जुलाई को हुआ
    • इस सफलता से इस पक्षी को बचाने और उनकी कैप्टिव ब्रीडिंग का मार्ग प्रशस्त हो गया है
  • कैंसर के लिए कारगर एंटी–पैरासिटिक दवा
    • ऑस्ट्रेलिया के सिडनी स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ न्यू साउथ वेल्स के शोधकर्ताओं ने परजीवी संक्रमण रोकने वाली दवा (एंटी–पैरासिटिक ड्रग) को मेलानोमा के प्रसार को रोकने में भी मददगार पाया है।
      • मेलानोमा त्वचा कैंसर का सबसे गंभीर प्रकार है
      • यह त्वचा में मेलानिन बनाने वाली कोशिकाओं को शिकार बनाता है
        • त्वचा को रंग देने में मेलानिन की भूमिका होती है
    • कुछ दशकों से परजीवी संक्रमण से निपटने के लिए फ्लूबेंडाजोल नामक दवा का प्रयोग किया जा रहा है
      • इस दवा के प्रयोग से चूहों पर सकारात्मक परिणाम मिले हैं
      • यदि यह प्रयोग इंसानों पर भी सफल होता है तो यह मेलानोमा के उपचार की दिशा में एक बड़ी सफलता होगी
  • ऑटिज्म का पता लगाने की नई तकनीक
    • किसी चेहरे को देखने का आटिज्म के शिकार बच्चों के देखने का तरीका अन्य बच्चों से काफी अलग होता है। बच्चा चेहरे के किस हिस्से पर ज्यादा ध्यान देता है और कितनी जल्दी निगाह एक हिस्से से दूसरे हिस्से पर ले जाता है, इसके आधार पर ऑटिज्म का पता लगाया जा सकता है
    • इस रोग के शिकार बच्चों को लोगों से घुलने मिलने और बात करने में परेशानी होती है
    • शोधकर्ता मेरशाद सेड्रिया ने बताया कि अभी तक प्रयोग की जा रही जांच की तकनीक बच्चों के लिहाज से बेहतर नहीं थी किंतु अब डॉक्टरों ने एक ऐसी तकनीक विकसित किया है जिससे ज्यादा तेजी से और सटीक तरीके से बच्चों में ऑटिज्म का पता लगाया जा सकता है

साभार – दैनिक जागरण (राष्ट्रीय संस्करण) दिनांक 10 जुलाई 2019 

आज के अंक से संबंधित पीडीएफ डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें – सामयिकी – 10 जुलाई 2019

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.