बातें – मेरी और आपकी – 1

शुभप्रभात मित्रों

बहुत दिनों से मैं सोच रहा था कि अपने ब्लॉग पर एक सेक्शन ऐसा भी होना चाहिए जहां मैं और आप ज्ञान और साहित्य के अलावा भी एक दूसरे से कुछ कह और सुन सकें। जीवन में हर व्यक्ति की एक ख्वाहिश ऐसी होती है जो उसे हमेशा आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करती है। उस अकेली ख्वाहिश के लिए वह कुछ भी करने के लिए तैयार रहता है। किसी को प्रशासनिक अधिकारी बनना है तो किसी को सैन्य जीवन आकर्षित करता है। किसी को लेखन का क्षेत्र सुहावना लगता है तो कोई स्वतंत्र विचारक बन जाता है। कहने का अर्थ है कि हर कोई अपने जीवन की एक दिशा निर्धारित करने में जुटा होता है और जो कोई दिशा नहीं चुन पाता वह जीवन को कोसता हुआ जीवन जीता चला जाता है।

जीवन के बहुआयामी रूप और रंग के बीच मेरी भी एक ख्वाहिश थी कि मुझे कुछ लिखना चाहिए। विचार भी थे और इच्छा भी, मगर प्रेरणा का अभाव था। बहुत सोच कर भी कलम नहीं उठा पाता था। मेरी लेखन यात्रा पर एक स्वरचित कविता भी ब्लॉग पर उपलब्ध है, समय निकालकर अवश्य पढ़िए (मेरी लेखन यात्रा)। कहते हैं न कि इंसान अगर कुछ ठान ले तो उसके अंदर उसे कर गुजरने की अपार शक्ति होती है। बस कुछ ऐसा ही मेरे साथ हुआ और एक यात्रा के दौरान मैंने पहली बार लिखना आरंभ किया। वो तिथि थी 29 सितंबर 2018। वह रचना भी ब्लॉग पर उपलब्ध है (पढ़ें – मेरी पहली कविता)।

वो सिलसिला एक बार शुरू हुआ तो हर दिन कुछ लिखने की इच्छा बलवती होती गई और कुछ दिनों में ही यह ब्लॉग 12 जनवरी 2019 को अस्तित्व में आया। लेखन मेरे लिए एक पैशन है और इसलिए मैंने अपने लेखन में हमेशा सामाजिक धारा, मानवीय रिश्तों और प्रतियोगी वर्ग को विशेष वरीयता प्रदान किया है जिससे अधिक से अधिक लोगों को आगे बढ़ने में कुछ सहायता मिल सके।

अत्यंत हर्ष के साथ आज मैं आप सबको बताना चाहता हूं कि एक वर्ष से भी कम समय में मेरे ब्लॉग पर 51 हजार से ज्यादा शब्द लिखे और प्रकाशित किए जा चुके हैं जो मेरे जीवन की एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है। अब तक की यात्रा में आप सभी ने जो प्यार और प्रोत्साहन दिया है, उसका मैं हृदय से आभारी हूं।

भविष्य में भी आपके अनवरत प्यार की अपेक्षा के साथ

आपका अपना – अरुण अर्पण

6 Comments

  1. Dear Arun, I am blessed that once upon a time I had a company with you and as a companion you persona inspired me the most in the entire lot of Jalahalli during that time. Now days are gone by and time has flown but your persona is still in my remembrance. Your blog albeladarpan.blog is a nice initiative and inspires to many of them including me. If possible kindly share your contact number either through FB or Whatsaap. My number is 9419426196 and Whatsaap Number is 6207803638

    Liked by 1 person

    1. Thanks a lot sir. You’re the person who introduced me to the world of internet and I’m still using the very first email id created by you for me.. it’s indeed a matter of honour to have these precious words for me… I must mention that you’re also a source of inspiration for me in many terms… I’ll ping you on WhatsApp shortly… That’s a lot sir

      Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.